ALL व्यापार राजनीति स्वास्थ्य साहित्य मनोरंजन कृषि दिल्ली शिक्षा राज्य धर्म - संस्कृति
सचिव (विद्युत) भारत सरकार एवं अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, एनएचपीसी ने सलाल पावर स्टेशन का दौरा किया
October 29, 2020 • सजग ब्यूरो • व्यापार

28 अक्तूबर 2020 को श्री संजीव नंदन सहायसचिव (विद्युत)विद्युत मंत्रालय, भारत सरकार ने एनएचपीसी के जम्मू व कश्मीर में स्थित 690 मेगावाट सलाल पावर स्टेशन का दौरा किया। पावर स्टेशन की यात्रा के दौरान उनके साथ श्री ए.के. सिंहसीएमडीएनएचपीसीश्री तन्मय कुमारसंयुक्त सचिव (हाइड्रो)विद्युत मंत्रालय, श्री रोहित कंसल, प्रिन्सिपल सेक्रेटरी, पीडीडी, जम्मू व कश्मीर  और श्री राजन कुमारमुख्य महाप्रबंधकक्षेत्रीय कार्यालय जम्मूएनएचपीसी भी रहे।

गणमान्य महानुभावों का स्वागत श्री नन्हे राममहाप्रबंधक (प्रभारी)सलाल पावर स्टेशनएनएचपीसी, सीआईएसएफऔर सिविल प्रशासन के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा रामलीला ग्राउंडज्योतिपुरम में किया गया। इसके बाद सचिव (विद्युत)विद्युत मंत्रालय, भारत सरकार को सीआईएसएफ द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर से सम्मानित किया गया।

सचिव (विद्युत) ने सीएमडीएनएचपीसी, संयुक्त सचिव (हाइड्रो), प्रिन्सिपल सेक्रेटरी, पीडीडी, जम्मू व कश्मीर  और सलाल पावर स्टेशन के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ पावर हाउस सहित पावर स्टेशन के विभिन्न घटकों का दौरा किया। श्री सहाय ने "सलाल पावर हाउस की नवीनीकृत इकाइयों" का उद्घाटन किया। सलाल पावर स्टेशन प्रमुख श्री नन्हें राम द्वारा पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से गणमान्य महानुभावों  को पावर स्टेशन के संचालन और रखरखाव की गतिविधियों से अवगत कराया गया।

इस अवसर पर सचिव (विद्युत), ने सीएमडीएनएचपीसी के कुशल नेतृत्व में सलाल पावर स्टेशन के प्रदर्शन में सुधार के लिए किए गए प्रयासों की सराहना की और एनएचपीसी के अति प्रतिष्ठित पावर स्टेशन में आने पर प्रसन्नता  व्यक्त की। उन्होंने पनबिजली परियोजनाओं के समयबद्ध  पूरा करने पर ज़ोर दिया और कहा कि भारत सरकार ने मार्च 2019 में नई पनबिजली नीति के माध्यम से पनबिजली परियोजनाओं को बढ़ावा देने के लिए पहले ही पहल कर दी है। उन्होंने कहा की भारतीय ग्रिड में नवीकरण ऊर्जा की उच्च पैठ को ध्यान में रखते हुए ग्रिड स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए एनएचपीसी द्वारा पंप भंडारण योजनाओं के विकास को आगे बढ़ाया जाए।

श्री ए.के. सिंहसीएमडीएनएचपीसी ने सचिव (विद्युत) का उनके व्यस्त कार्यक्रम से समय निकालने और सलाल पावर स्टेशन का दौरा करने के लिए आभार व्यक्त किया और यह भी कहा कि यह प्रदर्शित होता है कि भारत सरकार द्वारा जलविद्युत परियोजनाओं को समुचित महत्व दिया जा रहा है।