ALL व्यापार राजनीति स्वास्थ्य साहित्य मनोरंजन कृषि दिल्ली शिक्षा राज्य धर्म - संस्कृति
सांसद रवि किशन ने भोजपुरी भाषा को आठवीं अनुसूची में शामिल करने का किया मांग!
March 19, 2020 • विनय कुमार मिश्र

 

सांसद रवि किशन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करके भोजपुरी भाषा को आठवीं अनुसूची में शामिल करने की मांग की है! उन्होंने कहा कि अब भोजपुरी भाषा 1000 वर्ष पुरानी भाषा है जो देश की 125 करोड़ जनसंख्या में से 15 करोड़ लोग भोजपुरी भाषा बोलते हैं विदेशों में भी भोजपुरी को बोलने वालों की संख्या कम नहीं है ! आपको बता दें कि मॉरीशस गयाना  फिजी  त्रिनिदाद और टोबैगो जैसे  कैरोबियन देशों में इतनी ही संख्या में लोग भोजपुरी बोलने वाले मिल जाएंगे ! मॉरीशस में तो  भोजपुरी को दूसरी राजभाषा का दर्जा प्राप्त है भोजपुरी भाषा  के ऊपर शोधकर्ता शोध कर रहे हैं भोजपुरी भाषा में फिल्में बन रही हैं जो कि लाखों की संख्या में होती है और करोड़ों की संख्या में लोग इसे देखना पसंद करते हैं  और लाखों लोगों को के द्वारा रोजगार मिलता है ! संविधान में इसको आठवीं अनुसूची में शामिल न किए जाने से सर्वजन विकास में रोड़ा बना हुआ है अगर भोजपुरी भाषा को आठवीं अनुसूची में शामिल किया जाता है तो  सर्वजन का विकास होगा साथ ही साथ राजकीय संरक्षण भी प्राप्त होगा! अतः सांसद रवि किशन प्रधानमंत्री ने नरेंद्र मोदी जी से अनुरोध किया है कि भोजपुरी भाषा को आठवीं अनुसूची में शामिल किया जाए!
इस बात की जानकारी सांसद के पीआरओ पवन दुबे ने दी!