ALL व्यापार राजनीति स्वास्थ्य साहित्य मनोरंजन कृषि दिल्ली शिक्षा राज्य धर्म - संस्कृति
रामनिवास गोयल सर्व सम्मति से फिर बने दिल्ली विधानसभा के अध्यक्ष
February 25, 2020 • सजग ब्यूरो • दिल्ली
  • उप मुख्यमंत्री श्री   मनीष सिसोदिया ने रखा राम निवास के नाम का प्रस्ताव
  • प्रोटेम स्पीकर  श्री शोएब इकबाल ने मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल समेत नव निर्वाचित विधायकों को दिलाई पद एवं गोपनीयता की शपथ
दिल्ली विधानसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत दर्ज करने के बाद आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक एवं मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में नव गठित सरकार का पहला विधानसभा सत्र सोमवार को शुरू हुआ। तीन दिन चलने वाले विधानसभा सत्र के पहले दिन सोमवार को प्रोटेम स्पीकर शोएब इकबाल ने नव निर्वाचित सभी विधायकों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। जिसके बाद आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता व विधायक  रामनिवास गोयल को सातवीं  विधानसभा का निर्विरोध अध्यक्ष चुना गया। वह लगातार दूसरी बार विधानसभा अध्यक्ष चुने गए हैं। उनके नाम का प्रस्ताव उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने रखा था। जिसका सभी ने समर्थन किया। अब 25 फरवरी को दोपहर 2 बजे उप राज्यपाल अनिल बैजल विधानसभा को संबोधित करेंगे। 
आप विधायक  शोएब इकबाल को सोमवार सुबह 9.30 बजे उप राज्यपाल ने राज निवास पर प्रोटेम स्पीकर की शपथ दिलाई। श्री  शोएब इकबाल मटिया महल विधानसभा क्षेत्र से छठीं बार विधायक चुने गए हैं।  जिसके बाद दिल्ली की सातवीं विधानसभा के पहले तीन दिवसीय विशेष सत्र की कार्रवाई सोमवार सुबह 11 बजे शुरू हुई। प्रोटेम स्पीकर  शोएब इकबाल ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया समेत सभी नव निर्वाचित विधायकों को विधानसभा के सेंट्रल हाल में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। 61 सदस्यों ने हिंदी में, 3 ने ऊर्दू में, 2 ने मैथिली और एक-एक सदस्यों ने अंग्रेजी और पंजाबी भाषा में शपथ लिए।
 
इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष चुनने की कार्रवाई शुरू हुई। उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया  ने ‘आप’ विधायक राम निवास गोयल के नाम का प्रस्ताव विधानसभा अध्यक्ष के लिए रखा। जिसका विधायक कुलदीप कुमार,  सतेंद्र जैन,  प्रवीण कुमार,  दिनेश मोहनिया,  एसके बग्गा,  विशेष रवि और राघव चड्ढा ने समर्थन किया। जिसके बाद ध्वनि मत से प्रस्ताव को पास कर दिया गया। इसी के साथ रामनिवास गोयल लगातार दूसरी बार दिल्ली विधानसभा के अध्यक्ष चुन लिए गए। आम आदमी पार्टी की पिछली सरकार के दौरान भी रामनिवास गोयल ही विधानसभा अध्यक्ष थे।
 
इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने  रामनिवास गोयल को निर्विरोध विधानसभा अध्यक्ष चुने जाने पर कहा कि हमारे लिए यह हर्ष का विषय है कि  रामनिवास गोयल जी को निर्विरोध विधानसभा अध्यक्ष चुना गया। इससे स्पष्ट है कि पक्ष और विपक्ष दोनों का ही उन पर पूरा भरोसा है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बीते पांच साल में हमने देखा कि रामनिवास जी सदन के भीष्म पितामह की तरह रहे। विपक्ष को भी उन्होंने शिकायत का कोई मौका नहीं दिया। मुख्यमंत्री ने भरोसा जताया कि रामनिवास जी की अध्यक्षता में आने वाला पांच साल भी अच्छा होगा। सदन दिल्ली का मंदिर है, जो लोगों ने भरोसा जताया है, उसे पूरा करेंगे। वहीं, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी रामनिवास गोयल को निर्विरोध विधानसभा अध्यक्ष चुने जाने पर सभी विधायकों की तरफ से उन्हें बधाई दी। उन्होंने कहा कि आपके मार्ग दर्शन में दिल्ली में विकास की नई गाथा लिखी गई। आपके नेतृत्व में फिर से दिल्ली विधानसभा विकास की राह पर दिल्ली को तेजी से ले जाएगी। वहीं, नेता प्रतिपक्ष व भाजपा विधायक श्री  रामवीर सिंह बिधूड़ी ने भी रामनिवास गोयल को विधानसभा अध्यक्ष चुने जाने पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि सदन चलने में वे पूरा सहयोग करेंगे।
 
गौरतलब हैं कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को कुल 70 विधानसभा सीटों में से 62 सीटों पर विजय मिली थी। वहीं, भाजपा के खाते में 8 सीटें आई थी.