ALL व्यापार राजनीति स्वास्थ्य साहित्य मनोरंजन कृषि दिल्ली शिक्षा राज्य धर्म - संस्कृति
एनएचपीसी ने वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए भारत सरकार को 840.96 करोड़ रुपए का अंतरिम लाभांश दिया
March 5, 2020 • सजग ब्यूरो • व्यापार

एनएचपीसी, भारत की प्रमुख जलविद्युत कंपनी एवं भारत सरकार का एक ‘मिनी रत्ना ‘श्रेणी-I उद्यम  ने 3 मार्च 2020 को वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए भारत सरकार को रु.840.96 करोड़ के अंतरिम लाभांश का भुगतान किया । लाभांश भुगतान की बैंक ऍडवाईस श्री आर.के. सिंह माननीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), विद्युत और नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा एवं राज्य मंत्री कौशल विकास और उद्यमिता, भारत सरकार को श्री ए.के. सिंह, अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक, एनएचपीसी द्वारा 4 मार्च 2020 को श्री संजीव नंदन सहाय, सचिव (विद्युत), भारत सरकार, श्री अनिरुद्ध कुमार, संयुक्त सचिव (हाइड्रो), भारत सरकार, एनएचपीसी से श्री एन. के. जैन, निदेशक (कार्मिक), श्री महेश कुमार मित्तल, निदेशक (वित्त) और श्री जनार्दन चौधरी, निदेशक (तकनीकी) की उपस्थिति में प्रस्तुत की गई। एनएचपीसी ने वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए भारत सरकार को 526.53 करोड़ रुपये के अंतरिम लाभांश का भुगतान किया था ।

7 फरवरी 2020 को आयोजित अपनी बैठक में कंपनी के निदेशक मंडल ने वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए रु 1.18 प्रति इक्विटी शेयर की दर से यानी अंकित मूल्य का 11.80% की दर से अंतरिम लाभांश घोषित किया था । वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए अंतरिम लाभांश 0.71 प्रति इक्विटी शेयर की दर से यानी अंकित मूल्य का 7.10% था । आज की तारीख में एनएचपीसी के सात लाख से अधिक शेयरधारक हैं और वित्तीय वर्ष 2018-19 के 713.20 करोड़ रुपये के लाभांश के भुगतान की तुलना में वित्त वर्ष 2019-20 के लिए कुल अंतरिम लाभांश भुगतान 1185.31 करोड़ रुपये है।

एनएचपीसी ने वित्तीय वर्ष 2019-20 के नौ महीनों की समाप्त अवधि के लिए पिछली अवधि के रु.2138.26 करोड़ के मुकाबले रु.2624.26 करोड़ का शुद्ध लाभ अर्जित किया है।