ALL व्यापार राजनीति स्वास्थ्य साहित्य मनोरंजन कृषि दिल्ली शिक्षा राज्य धर्म - संस्कृति
डरें नहीं मामूली सर्दी खांसी कोरोना वायरस नहीं है- डा. रूप कुमार बनर्जी
February 19, 2020 • विनय कुमार मिश्र • स्वास्थ्य
 
आज चारों तरफ कोरोना का डर लोगों में समाया हुआ है इस बात को लेकर हमने बात की होम्योपैथी के प्रसिद्ध डाक्टर रूप कुमार बनर्जी से। डॉ बनर्जी के अनुसार जरा सी सर्दी की भी यदि आप जांच करा रहे हैं तो कोरोना की रिपोर्ट आ सकता है पॉजिटिव। कोरोना वायरस के 4 प्रकार दुनिया में पहले से हैं , लेकिन वे जानलेवा नहीं होते हैं। कोरोना वायरस की जांच कराते हैं और रिपोर्ट पॉजिटिव आती है, तो डरें नहीं। जिस कोरोना वायरस की जांच आपने कराई है, वह आम वायरस है। उससे डरने की बात नहीं है। खतरा उस कोरोना वायरस से है, जो अभी चीन में फैला हुआ है। देश और दुनिया में पहले से मौजूद पुराने कोराना वायरस से कोई खतरा नहीं है। चीन में जो कोरोना वायरस फैला है, वह नया वायरस है। उसका नाम '2019 नोवल कोरोना वायरस' है। इसे COVID-19 के नाम से भी जानते हैं। यह वायरस अभी तक दिल्ली में नहीं है। इसकी पहचान दिल्ली में सिर्फ दो लैब में हो सकती है। ये एम्स और एनसीडीसी की लैब हैं। ऐसे में बिना वजह न तो जांच कराएं और अगर जांच में रिपोर्ट पॉजिटिव आए तो डरें नहीं और ना ही दहशत फैलाएं।पुराना कोरोना वायरस का संक्रमण होता रहता है, जो समाज में पहले से मौजूद है। इस वायरस का असर नाम मात्र है। ऐसे में अगर लोग जांच कराएंगे, तो उनमें से कुछ में यह पॉजिटिव भी आ सकता है। लेकिन यह वह वायरस नहीं है, जो चीन में फैला है। इसलिए इसके पॉजिटिव आने से भी डरने की कोई बात नहीं है। कोरोना कोई नया वायरस नहीं है। पहले से यह वायरस एक्टिव है। एक परिवार की तरह इस वायरस के कई प्रकार हैं, जो पूरी दुनिया में हैं। साधारण रूप से पहले से कोरोना के 4 वायरस सक्रिय हैं, लेकिन यह साधारण वायरस की तरह हैं जिनसे आमतौर पर कोई नुकसान नहीं होता। यहां तक कि संक्रमित इंसान को पता भी नहीं चलता है कि उनके शरीर में यह वायरस है। ऐसे में जांच कराने पर यह पॉजिटिव भी आ सकता है।सिर्फ उन लोगों को सावधान रहने की जरूरत है, जो हाल ही में चीन या कोई अन्य देश गए हों और वहां से लौटे हों। अगर ऐसे किसी संक्रमित इंसान से मिले हों या उस इलाके में गए हों, तो सावधान रहने की जरूरत है। ऐसे लोगों को लक्षणों पर गौर करना चाहिए और सर्दी, खांसी व जुकाम होने पर डॉक्टर के पास जाना चाहिए। पर जो लोग ऐसी किसी काम में नहीं रहे, वह ना तो जांच कराएं और ना ही डरें। डॉ बनर्जी के आम कोरोना वायरस के विषय में बताया कि 229 ई अल्फा कोरोना वायरस,
एनएल 63 अल्फा कोरोना वायरस, ओसी43 बीटा कोरोना वायरस, एचकेयू1 बीटा कोरोना वायरस है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि लोग डरें नहीं और बेकार का दहशत भी ना फैलाएं क्योंकि चीन में जो कोरोना वायरस फैला है, वह नया वायरस है। उसका नाम '2019 नोवल कोरोना वायरस' है।