ALL व्यापार राजनीति स्वास्थ्य साहित्य मनोरंजन कृषि दिल्ली शिक्षा राज्य धर्म - संस्कृति
बैंक ऑफ महाराष्ट्र द्वारा वीडियो कॉन्फरेंस के माध्यम से अपने ग्राहकों के साथ 86 वें स्थापना दिवस का आयोजन
September 17, 2020 • सजग ब्यूरो • व्यापार

बैंक ऑफ महाराष्ट्र देश का सार्वजनिक क्षेत्र का अग्रणी बैंक है। बैंक ने पुणे स्थित अपने प्रधान कार्यालय में दिनांक 16 सितंबर, 2020 को वीडियो कॉन्फरेंसिंग (वीसी) के माध्यम से अपने ग्राहकों के साथ बैंक का 86 वां स्थापना दिवस मनाया। इस स्थापना दिवस कार्यक्रम में प्रतिष्ठित उद्योगपतियों और विभिन्न क्षेत्रों के गणमान्य व्यक्तियों सहित पूरे देश में स्थित हमारे बैंक की शाखाओं के ग्राहकों ने वीडियो कॉन्फरेंसिंग के माध्यम से सहभाग लिया। बैंक की ओर से प्रधान कार्यालय में प्रबंध निदेशक एवं सीईओ श्री ए. एस. राजीव, कार्यपालक निदेशक श्री हेमन्त टम्टा व  नागेश्वर राव वाई., तथा मुख्य सतर्कता अधिकारी श्री एल. एन. रथ और महाप्रबंधकगण उपस्थित थे। वर्तमान महामारी से प्रभावित स्टाफ सदस्यों और जन-सामान्य के प्रति सम्मान की दृष्टि से इस कार्यक्रम को सरल और सादे तरीके से मनाया गया।  

इस अवसर पर बैंक ऑफ महाराष्ट्र के प्रबंध निदेशक एवं सीईओ ए. एस. राजीव ने बैंक के इतिहास और विकास के संबंध में जानकारी देते हुए बैंक के संस्थापकों को नमन किया और कर्मचारियों तथा ग्राहकों को संस्था के प्रति उनके विश्वास और सतत समर्थन के लिए धन्यवाद दिया। ए. एस. राजीव ने विचार व्यक्त किया कि “महामारी के दौरान हमारा बैंकिंग परिवेश तेजी से बदल रहा है और डिजिटाइजेशन बैंकिंग का मूल ‘मंत्र’ बन गया है। आज हम उस निर्णायक मोड़ पर खड़े हैं, जहां यदि हम इन परिवर्तनों को आत्मसात नहीं करते हैं, तो अस्तित्व दांव पर लग जाएगा। हम एक गतिशील विश्व में हैं, अतः यह परिवर्तनशील यात्रा बिना किसी आत्म-संतुष्टि के हमारे पुनर्समर्पण की मांग करती है।”

बैंक के कार्यपालक निदेशक हेमन्त टम्टा ने कहा कि “बैंक ऑफ महाराष्ट्र ग्राहकों की सभी वित्तीय आवश्यकताओं के लिए वन स्टॉप सॉल्यूशन – एक वित्तीय सुपरमार्केट बनने के लिए निरंतर प्रयासरत है।” हेमन्त टम्टा ने आगे कहा कि हमें अपनी प्रमुख शक्तियों अर्थात कासा वृद्धि और आरएएम (रिटेल, कृषि व एमएसएमई) अग्रिमों के संवर्धन हेतु निष्ठावान ग्राहक आधार, युवा और ऊर्जावान स्टाफ तथा बेहतर और संवर्धित ग्राहक सेवा प्रदान करने तथा अपनी लाभप्रदता में वृद्धि करने हेतु देशभर में शाखा नेटवर्क के विस्तार करने की आवश्यकता है। 

नागेश्वर राव वाई., कार्यपालक निदेशक ने कहा कि बैंक ने पिछली छह तिमाहियों में लगातार लाभ अर्जित किया है और अपने ग्राहकों तथा स्टाफ सदस्यों के स्नेह और प्रशंसा के आधार पर अभूतपूर्व ऊंचाइयों को प्राप्त करने की दिशा में अग्रसर है।  

कार्यक्रम के दौरान बैंक ने रिटेल पोर्टफोलियो के विस्तार हेतु अपने क्रेडिट कार्ड का शुभारंभ किया। साथ ही, अन्य सेवाएं यथा महाबैंक गोल्ड लोन प्वाइंट, ऑनलाइन/ टैब बैंकिंग सॉल्यूशन और बैंक की नवीन वेबसाइट www.bankofmaharashtra.in की भी शुरूआत की गई। इसके अतिरिक्त, वसूली विभाग की तिमाही पत्रिका “लिगल ऐज” और मानव संसाधन प्रबंधन विभाग की बुकलेट यथा,” वेल्फेयर उपाय, टर्मिनल लाभ और स्थानांतरण दिशानिर्देश भी जारी किए गए।

बैंक ऑफ महाराष्ट्र द्वारा महाराष्ट्र राज्य के 7 जिलों में जागरूकता शिविरों का आयोजन कर बच्चों और महिलाओं में कुपोषण और कमियों, पोषण की आवश्यकता आदि के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए दिनांक 01 से 30 सितंबर 2020 तक राष्ट्रीय पोषण माह मनाया जा रहा है जिसके अंतर्गत कोविड 19 महामारी के दौरान सैनिटाइजेशन और मास्क के साथ सामाजिक दूरी के महत्व की जानकारी देना, पोषक आहार पैकेटों का वितरण, स्पॉट डॉक्टर्स की उपलब्धता का समावेश है।     

एम. जी. महाबळेश्र्वरकर, महाप्रबंधक, संसाधन आयोजना तथा विपणन व प्रचार ने सभी उपस्थितों का स्वागत किया और डॉ. एन. मुनिराजु, महाप्रबंधक, मानव संसाधन प्रबंधन ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया।