ALL व्यापार राजनीति स्वास्थ्य साहित्य मनोरंजन कृषि दिल्ली शिक्षा राज्य धर्म - संस्कृति
50 लाख से अधिक ड्राइवरों को प्रशिक्षित करने के बाद मारूति सुजुकी ने सड़क सुरक्षा को सशक्त बनाने की शपथ ली 
January 16, 2020 • सजग ब्यूरो
  • मारूति सुजुकी ड्राइविंग स्कूल (एमडीएस) और इन्सटीट्यूट ऑफ़ ड्राइविंग एण्ड ट्रैफिक रीसर्च (IDTR ) उम्मीदवारों को लर्नर, रिफ्रैशर और इवैल्यूएशन कोर्सेज़ में कर रहे हैं प्रशिक्षित
  • ड्राइविंग प्रशिक्षण सुविधाओं में वैज्ञानिक रूप से तैयार किए गए टेस्ट ट्रेक, ड्राइविंग सिमुलेटर और उपयुक्त पाठ्यक्रम का इस्तेमाल किया जाता है
  • सुरक्षित ड्राइविंग और सड़क सुरक्षा के लिए तकनीकी कौशल के साथ व्यवहारिक कौशल पर विशेष रूप से ध्यान दिया जाता है 

मारूति सुजुकी इण्डिया लिमिटेड ने कुल 50 लाख उम्मीदवारों को ड्राइविंग में आधुनिक प्रशिक्षण उपलब्ध कराने की उपलब्धि हासिल कर ली है। इसमें वे उम्मीदवार शामिल हैं, जिन्हें कंपनी की ड्राइविंग ट्रेनिंग  सुविधाओं- मारूति सुजुकी ड्राइविंग स्कूलों (MDS ) इन्सटीट्यूट ऑफ़  ड्राइविंग एण्ड ट्रैफिक  रीसर्च (IDTR ) नेटवर्क में लर्नर, रिफ्रैशर और इवैल्यूएशन कोर्सेज़ में प्रशिक्षित किया गया है। 

ड्राइविंग में सर्वश्रेष्ठ प्रशिक्षण उपलब्ध कराने और भारतीय सड़कों को सुरक्षित बनाने के उद्देश्य से स्थापित ये प्रशिक्षण संस्थान ‘लर्नर’ एवं मौजूदा ड्राइवरों को प्राइवेट और काॅमर्शियल वाहनों के लिए प्रशिक्षण प्रदान करते हैं। 

सड़क सुरक्षा मारूति की सीएसआर पहल का अभिन्न हिस्सा है और कंपनी ने सड़क सुरक्षा प्रबन्धन एवं ड्राइविंग प्रशिक्षण के विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखते हुए कई सामाजिक पहलों को अंजाम दिया है। ड्राइविंग स्कूलों का प्रबंधन कंपनी के डीलरों द्वारा किया जाता है और IDTRs  का प्रबंधन कंपनी द्वारा संबंधित राज्य सरकारों के सहयोग से किया जाता है। इन पहलों के माध्यम से कंपनी ने गुणवत्तापूर्ण ड्राइविंग प्रशिक्षण के क्षेत्र में विश्वस्तरीय मानक स्थापित किए हैं, इसके विशेष रूप से तैयार किए गए पाठ्यक्रम में थ्योरी एवं प्रैक्टिकल प्रशिक्षण शामिल हैं। 

मारूति सुजुकी ड्राइविंग प्रशिक्षण की शुरूआत साल 2000 में हुई और पिछले सालों का दौरान मारूति सुुजुकी का देशव्यापी ड्राइविंग ट्रेनिंग  नेटवर्क विस्तारित होकर वर्तमान में 480 मारूति ड्राइविंग स्कूलों और 07 IDTRs तक पहुंच गया है।

श्री अजय कुमार तोमर, एक्ज़क्टिव अडवाइज़र, सीएसआर, मारूति सुजुकी इण्डिया लिमिटेड ने कहा, ‘‘मारूति सुजुकी ड्राइविंग संस्थानों में 50 लाख उम्मीदवारों को प्रशिक्षित किया जाना सड़क सुरक्षा के लिए हमारी प्रतिबद्धता की पुष्टि करता है। सुरक्षित ड्राइविंग को बढ़ावा देना हमारी सामाजिक ज़िम्मेदारी है और हम हर ज़िम्मेदार नागरिक से आग्रह करते हैं कि ड्राइविंग का वैज्ञानिक तरीका सीखें तथा तकनीकी एवं व्यवहारिक पहलुओं पर विशेष रूप से ध्यान दें।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘प्रशिक्षण सुविधाओं के नेटवर्क के साथ मारूति सुजुकी ने देश की सड़कों को सुरक्षित बनाने के लिए ड्राइविंग में गुणवत्तापूर्ण प्रशिक्षण के विश्वस्तरीय मानक प्रस्तुत किए हैं।’’


सड़कों को सुरक्षित बनाने के लिए मारूति सुजुकी की मुख्य पहलें हैंः

मारूति सुजुकी ड्राइविंग स्कूल (MDS )

मारूति सुजुकी ड्राइविंग स्कूलों  (MDS ) की स्थापना मारूति सुजकी के डीलर पार्टनर्स के साथ साझेदारी में की गई है। ये ड्राइविंग स्कूल महिलाओं सहित सभी उम्मीदवारों को आधुनिक ड्राइविंग सिमुलेटर्स तथा प्रशिक्षित इन्स्ट्रक्टर्स के माध्यम से सैद्धान्तिक एवं व्यवहारिक प्रशिक्षण प्रदान करते हैं। इन स्कूलों में नामांकित होने वाले तकरीबन 50 फीसदी उम्मीदवार महिलाएं ही हैं। 

कंपनी सामाजिक प्रोग्रामों जैसे उन्नति के माध्यम से लोगों को प्रोत्साहित करती है कि वे ड्राइविंग को पेशे के रूप में अपनाएं, जहां महिलाओं को शिष्टाचार और कस्टमर रिलेशन्स तथा सुरक्षित ड्राइविंग में विशेष प्रशिक्षण दिया जाता है। 

 इन्सटीट्यूट ऑफ  ड्राइविंग एण्ड ट्रैफिक  रीसर्च (IDTR )

मारूति सुजुकी ने राज्य सरकारों के साथ साझेदारी में (MDS) की स्थापना की है। वैज्ञानिक प्रशिक्षण तथा अन्तर्राष्ट्रीय मानकों के टेस्टिंग ट्रेक , आधुनिक ड्राइविंग सिमुलेटर्स तथा ठीक प्रकार से मेंटेन किए गए वाहनों के साथ ये संस्थान एक संरचित प्रशिक्षण सामग्री के ज़रिए सैद्धान्तिक एवं व्यवहारिक प्रशिक्षण देते हैं। यह पाठ्यक्रम प्रशिक्षित इन्स्ट्रक्टर्स द्वारा दिया जाता है।

मारूति सुजुकी 7 (हरियाणा और दिल्ली एनसीआर में 2-2, उत्तराखण्ड, गुजरात और बिहार में 1-1)का संचालन करती है। जहां (MDS) व्यक्तिगत कार ड्राइविंग पर ध्यान केन्द्रित करते हैं, वहीं प्क्ज्त् काॅमर्शियल वाहनों जैसे ट्रक, बस एवं अन्य हैवी मोटर व्हीकल्स, टैक्सी, थ्री-व्हीलर और फोर्कलिफ्ट के लिए प्रशिक्षण प्रदान करते हैं। 

AGIDTTR वड़ोदरा, सड़क सुरक्षा के लिए सफल माॅडल जो वंचित समुदायों को नौकरियों के अवसर भी प्रदान करता है

कंपनी आदिवासी युवाओं को सुरक्षित ड्राइविंग में प्रशिक्षण प्रदान करने केे लिए गुजरात में आदिवासी विकास मंत्रालय के साथ मिलकर काम कर रही है। वड़ोदरा के नज़दीक स्थित रेज़ीडेन्शियल प्क्ज्त् सुविधा सड़क सुरक्षा के अलावा रोज़गार के अवसरों पर भी ध्यान केन्द्रित करती है। अच्छी गुणवत्ता के ड्राइविंग प्रशिक्षण के साथ, छात्रों को पर्सनेलिटी, हाइजीन, सभ्यता एवं संचार आदि में भी प्रशिक्षण दिया जाता है। 

15000 से अधिक युवा आदिवासी लोगों को प्रशिक्षित कर रोज़गार प्रदान किया गया है, इनमें फाम्र्स में काम करने वाले मजदूर, अकुशल निर्माण कर्मी शामिल हैं। ।ळप्क्ज्ज्त् में ड्राइविंग प्रशिक्षण पाने के बाद इन्हें अर्थव्यवस्था की मुख्यधारा में शामिल होने का अवसर मिलता है, कंपनी की यह पहल कई परिवारों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाई है।