ALL व्यापार राजनीति स्वास्थ्य साहित्य मनोरंजन कृषि दिल्ली शिक्षा राज्य धर्म - संस्कृति
5 जनवरी 2019 से शुरू हो रहा है नई दिल्ली विश्व पुस्तक मेला
January 4, 2019 • Shiv Sachdeva

इस वर्ष नई दिल्ली विश्व पुस्तक मेले की थीम है 'दिव्यांगजनों की पठन आवश्यकताएँ ये घोषणा राष्ट्रीय पुस्तक न्यास के अध्यक्ष, प्रो. बल्देव भाई शर्मा ने  नई दिल्ली में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में की, जहाँ उन्होंने प्रगति मैदान, नई दिल्ली में 5 से 13 जनवरी 2019 तक आयोजित होने वाले नई दिल्ली विश्व पुस्तक मेले के संबंध में मीडिया को संबोधित किया।

इस थीम को प्रदर्शित करने का उद्देश्य  समाज में दिव्यांगजनों द्वारा हासिल की गई सफलताओं को प्रस्तुत करना है तथा समाज में उनके प्रति दया और सहानुभूति की बजाय सम्मान और समानता का भाव लाना है।

न्यास के अध्यक्ष महोदय ने यह भी बताया कि थीम को प्रदर्शित करने हेतु हॉल नं. 7 में एक विशिष्ट डिसेबल्ड फ्रेंडली मंडप का निर्माण किया गया है जहाँ व्हीलचेयर्स, हर तरफ स्टील रेलिंग तथा संकेत भाषा के दुभाषियों की व्यवस्था की गई है। इसके अतिरिक्त, 500से अधिक पुस्तकों की विशेष प्रदर्शनी  प्रमुख आकर्षण का केंद्र होगी। इनमें से 250 ब्रेल पुस्तकें एनबीटी द्वारा प्रकाशित की गई हैं। इस मंडप में ऑल इंडिया कॉन्फेडेरेशन ऑफ द ब्लाइंड द्वारा दिव्यांगजनों के लिए तकनीक आधारित उपयोगी उपकरणों की प्रदर्शनी भी होगी। इस मंडप पर माइक्रोसॉफट द्वारा ‘एक्सपीरियंस बूथ' भी लगाया गया है।

उन्होंने बताया कि इस बार मेले में इंटरनेशनल डिसैबिलिटी फिल्म फेस्टिवल आयोजित किया जा रहा है जिसके अंतर्गत थीम मंडप पर प्रतिदिन दोपहर 2 बजे से 4 बजे तक दे”–विदे” की डॉक्यूमेंट्री फिल्में दिखाई जाएँगी।

यह भी बताया गया कि मेले के दौरान थीम मंडप पर विभिन्न साहित्यिक तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम, परिचर्चाएँ, संवाद आदि आयोजित किए जाएँगे जिनमें प्रख्यात लेखक एवं साहित्यकार जैसे मृदुला सिन्हा, प्रेम जनमेजय, प्रसिद्ध कलाकार सोनल मानसिंह, मालिनी अवस्थी, बंत सिंह झब्बर, पैरा ओलंपियन व अर्जुन अवार्डी, राजेंद्र सिंह, परविंद्र सिंह, मनप्रीत कौर, सुवर्णा राज आदि शामिल होंगे।

प्रो. शर्मा ने बताया कि प्रगति मैदान में पुनर्निर्माण कार्य होने के कारण सीमित स्थान होने के बावजूद भी प्रकाशकों ने मेला आयोजित करने में एनबीटी का सहयोग किया है। उन्होंने यह भी बताया कि इस वर्ष नई दिल्ली वि”व पुस्तक मेले में शारजाह सम्मानित अतिथि के रूप में भाग लेगा।

इस अवसर पर अपने विचार प्रस्तुत करते हुए शारजाह की प्रतिनिधि, सुश्री खौला अल मुजैनी ने कहा कि शारजाह अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेला विश्व का तीसरा सबसे बड़ा पुस्तक मेला है जो संस्कृति एवं साहित्य का प्रचार-प्रसार करता है। उन्होंने बताया कि शारजाह प्रतिनिधिमंडल में 150 से अधिक सदस्य भाग ले रहे हैं जिनमें प्रख्यात लेखक, साहित्यकार, विद्वान, प्रकाशक भाग ले रहे हैं। मेले के दौरान विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा जिनमें शामिल हैं : काव्य पाठ, परिचर्चाएँ, बाल गतिविधियाँ आदि। इस मंडप पर विशेष आकर्षण का केंद्र होगा ‘अमीरात के लोक बैंड की प्रस्तुति' जो समृद्ध एवं गतिशील शारजाह संस्कृति व साहित्य का प्रदन करेगी।

कार्यक्रम में आईटीपीओ के कार्यकारी निदेशक श्री दीपक कुमार ने घोषणा की कि इस वर्ष मेले की प्रवेश ” टिकट बच्चों के लिए रुपये 10/- तथा वयस्कों के लिए रुपये 20/होगी। 14 वर्ष से कम आयु के बच्चों, वृद्धों तथा दिव्यांगजनों के लिए प्रवेश निशुल्क है।

इस अवसर पर मानव संसाधन विकास मंत्रालय के संयुक्त सचिव, श्री मनोज केजरीवाल तथा राष्ट्रीय पुस्तक न्यास की निदेशक, डॉ. रीता चौधरी भी उपस्थित थीं।