ALL व्यापार राजनीति स्वास्थ्य साहित्य मनोरंजन कृषि दिल्ली शिक्षा राज्य धर्म - संस्कृति
हरियाणा के पहले जापान-इण्डिया इंस्टिट्यूट फॉर मैनुफैक्चरिंग (JIM), ऊंचा माजरा, गुरूग्राम ने शुरू की प्रवेश प्रक्रिया 
July 17, 2019 • Shiv Sachdeva
  • JIM, ऊंचा माजरा, गुरूग्राम, क्षेत्र के छात्रों के कौशल को बेहतर बनाने के लिए मारुति सुजुकी और हरियाणा सरकार की एक संयुक्त पहल है।
  • दसवीं कक्षा पास किए हुए छात्र इस संस्थान के 428 सीटों पर आवेदन करने के योग्य हैं।
  • यह पहला JIM है जो हाइब्रिड इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (HEV) एवं इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (EV) पर बेसिक थ्योरी ट्रेनिंग देगा

गुरूग्राम, 16 जुलाई, 2019: गुरूग्राम के ऊंचा माजरा स्थित हरियाणा के पहले जापान- इण्डिया इंस्टिट्यूट फॉर मैनुफैक्चरिंग (JIM) ने छात्रों के पहले बैच के लिए प्रवेश प्रक्रिया शुरू कर दी है।

व्यवसायिक प्रशिक्षण के लिए राष्ट्रीय परिषद (NCVT) से संबद्ध और मिनिस्ट्री ऑफ इकोनॉमी, ट्रेड एण्ड इंडस्ट्री (एमईटीआई) से मान्यता प्राप्त JIM, ऊंचा मांजरा में आठतरह के पाठ्यक्रम की सुविधा है:

·   Mechanic Motor Vehicle

·   Mechanic Auto Body Painting

·   Technician Mechatronics

·   Welder

 

·   Mechanic Diesel Engine

·   Mechanic Auto Body Repair

·   Fitter

·   Electrician

इसके अलावा, मारुति सुजुकी सॉफ्ट स्किल्स तथा जापानी शॉपफ्लोर प्रैक्टिसेज़, सुरक्षा, गुणवत्ता, अनुशासन, कायज़न, 3G, 5S जैसे विषयों मेंप्रदान करेगा जो कार्यस्थल पर सफलता के लिए बेहद ज़रूरी हैं।

EV रेवलूशन के लिए तैयार होने और हाइब्रिड इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (HEVs) एवं इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (EVs) के लिए स्किल्ड मैनपावर की मांग को पूरा करने के लिए मारुति सुज़ुकी छात्रों को HEVs और EVs पर बेसिक थ्योरी ट्रेनिंग देगा।

संस्थान में महिला छात्रों के लिए एक विशेष बैच भी होगा।

पांच एकड़ क्षेत्रफल में फैले इस संस्थान में अठारह क्लासरूम और व्यवहारिक प्रशिक्षण के लिए आठ वर्कशॉप्स होंगें। उच्च प्रशिक्षण प्राप्त 40 प्रशिक्षक और ट्रेड एक्सपर्ट छात्रों को प्रशिक्षण देंगे।

पहले बैच के लिए प्रवेश प्रक्रिया की शुरूआत की घोषणा करते हुए श्री एके तोमर, एक्ज़क्यूटिव अडवाइज़र - CSR, मारुति सुजुकी इण्डिया लिमिटेड ने कहा, ''ऑटोमोटिवउद्योग को नए रूझानों एवं तकनीकों को अपनाने की क्षमता के लिए जाना जाता है। इसीलिए यह ज़रूरी है कि ऑटोमोबाइल एवं ऑटो कम्पोनेन्ट सेक्टर में काम करने वाले कर्मचारियों में भी जरूरी कौशल मौजूद हो। हरित तकनीकों को अपनाने के बाद भारतीय ऑटोमोबाइल उद्योग को बड़ी संख्या में कुशल कारीगरों की आवश्यकता है। युवाओं को ज़रूरी शिक्षा एवं प्रशिक्षण देकर प्रशिक्षित कार्यबल की मांग और आपूर्ति के बीच के अंतर को दूर करने के लिए JIM की शुरुआत की गई। नया JIM अत्याधुनिक तकनीकों जैसेहाइब्रिड इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (HEVs) एवं इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (EVs) के साथ छात्रों को 'हैंड्स ऑन ट्रैनिंग' प्रदान करेगा।''

10वीं कक्षा पास किए हुए छात्र इस JIM में प्रवेश पाने के लिए आवेदन कर सकते हैं। योग्य छात्र  https://admission.itihry.com/web/  पोर्टल पर ऑनलाइन अपल अप्लाई कर सकते हैं ।

JIM ऊंचा माजरा मारुति सुजुकी द्वारा स्थापित दूसरा ऐसा संस्थान है। गुजरात के मेहसाणा में स्थित पहले संस्थान का संचालन 2017 में शुरू हुआ। JIM मेहसाणा ने भारत में प्रशिक्षण के क्षेत्र में नए बेंचमार्क स्थापित किए हैं। पिछले साल JIM मेहसाणा से पहले बैच के छात्रों को 100% प्लेसमेन्ट प्राप्त हुआ था।

JIM की पहल के बारे में:

जापान-इण्डिया इंस्टीट्यूट फॉर मैनुफैक्चरिंग (JIM), भारत में मैनुफैक्चरिेंग के लिए कुशल कारीगरों के निर्माण हेतू जापान एवं भारत सरकार के बीच आपसी साझेदारी का परिणाम है, इसकी शुरूआत 2016 में जापान के मिनिस्ट्री ऑफ इकोनोमी, ट्रेड एण्ड इंडस्ट्री (METI) तथा भारत सरकार के कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय (MSDE) केद्वारा एक ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने के बाद हुई। 10 सालों के अंदर भारत के 30,000 युवाओं को प्रशिक्षित करने के लिए 'मैनुफैक्चरिंग स्किल ट्रांसफर प्रोग्राम' हेतू इस ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।