ALL व्यापार राजनीति स्वास्थ्य साहित्य मनोरंजन कृषि दिल्ली शिक्षा राज्य धर्म - संस्कृति
हम लोगों को राजनीति करनी नहीं आती :अरविंद केजरीवाल
July 17, 2019 • Shiv Sachdeva

- आपको राजनीति मुबारक और हमें काम मुबारक :अरविंद केजरीवाल

"मैं मानता हूं कि हम लोगों ने काम बहुत किया, लेकिन हम लोगों को राजनीति नहीं आती। यहां हमारे से कमी रह गई। अभी हम लोगों ने सिग्नेचर ब्रिज बनवाया। वहां पर विपक्षी पार्टी के एक नेता ने आकर उद्घाटन के दौरान स्टेज के ऊपर बोतलें फेंकी। फिर उन्होंने जगह-जगह प्रचार किया कि सिग्नेचर ब्रिज हमने बनवा दिया। दिल्ली के अंदर 20 साल से उनकी सरकार नहीं है, फिर भी कहते हैं कि सिग्नेचर ब्रिज उन्होंने बनवा दिया। इस किस्म की गंदी राजनीति करनी हमको नहीं आती। उस राजनीति में हम पिछड़ गये। आपको राजनीति मुबारक और हमें काम मुबारक। " राव तुला राम फ्लाईओवर को दिल्ली की जनता को समर्पित करते समय दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ये बातें कहीं।

उन्होंने कहा, "आज जनता मानती है कि दिल्ली में शिक्षा के क्षेत्र में जितना काम हुआ है, भारत के इतिहास में 70 साल में किसी भी पार्टी की सरकार ने गरीबों के बच्चों को पढ़ाने के लिए इतना काम नहीं किया, जितना काम आम आदमी पार्टी सरकार ने किया है। आज दिल्ली के अंदर सरकारी अस्पताल शानदार बनते जा रहे हैं, नये अस्पताल खुल रहे हैं, मोहल्ला क्लीनिक खुल रहे हैं, पॉली क्लीनिक खुल रहे हैं, पिछले 70 साल में भारत के किस कोने में कोई ऐसी सरकार आई थी, जिसने गरीबों के इलाज के बारे में, आपके परिवार के इलाज के बारे में सोचा। केवल और केवल राजनीति होती थी। केवल और केवल वोट लेने के लिए पार्टियां आया करती थीं। आज तक किसी भी पार्टी की सरकार ने काम करने को तवज्जो नहीं दी, केवल राजनीति करने को तवज्जो दी। हमको राजनीति करनी नहीं आती। हमारी असली राजनीति जनता की राजनीति है। हमारी असली राजनीति यही है कि  हम गरीबों के बच्चों को पढ़ा-लिखाकर डॉक्टर-इंजीनियर-एडवोकेट इत्यादि बना दें, उनका भविष्य बना दें, इसीलिए हम राजनीति में आए थे और यही कर रहे हैं।"
 
मुख्यमंत्री ने कहा, "केवल दक्षिणी दिल्ली में रहने वालों लोगों के लिए ही नहीं बल्कि आज पूरी दिल्ली के लिए बेहद खुशी का दिन है। आज लगभग 3 किमी लंबे राव तुला राम मार्ग फ्लाईओवर को जनता को समर्पित किया जा रहा है। एयरपोर्ट की तरफ जाने वाले दो-तीन रास्तों में ये एक महत्वपूर्ण रास्ता है। इस फ्लाईओवर से एयरपोर्ट और गुरुग्राम की तरफ जाने वालों को बहुत सहूलियत होगी। ट्रैफिक जाम से निजात मिलेगी। प्रदूषण कम होगा। इसे कम समय में और कम लागत में पूरा करने के लिए पीडब्ल्यूडी को बधाई।"

मुख्यमंत्री ने कहा, "कुछ लोग कहते हैं कि हमने शिक्षा-स्वास्थ्य के क्षेत्र में बहुत काम किया। बिजली 24 घंटे कर दी। बिजली सस्ती कर दी। पानी भी अच्छा कर दिया। पानी फ्री कर दिया। सीसीटीवी भी लग रहे हैं। लेकिन शीला दीक्षित जी के टाइम फ्लाईओवर खूब बने थे। मैं आपको बताना चाहता हूं कि हमारे से पहले 15 साल में शीला दीक्षित जी के टाइम 70 फ्लाईओवर बने थे। उनमें से ज्यादातर फ्लाईओवर कॉमनवेल्थ गेम्स के टाइम दो साल में बने थे। लेकिन फिर भी मान लेते हैं कि 15 साल में 70 फ्लाईओवर बने। वहीं, हमने साढ़े चार साल में 23 फ्लाईओवर बना दिये। इस तरह 1 साल में जितने फ्लाईओवर उन्होंने बनाये थे उससे ज्यादा ही बना दिये हैं, उससे कम नहीं बनाये हैं। मैं ये बात इसलिए नहीं कह रहा हूं कि कोई कंपटीशन है। आज जितना काम दिल्ली सरकार कर रही है मुझे नहीं लगता कि पिछले 70 साल में किसी भी राज्य में किसी भी पार्टी की सरकार ने बिजली, पानी, शिक्षा, स्वास्थ्य, इंफ्रास्ट्रक्चर में किया होगा। लेकिन कुछ लोगों को भ्रांति है कि दिल्ली में इंफ्रास्ट्रक्चर में कम काम हो रहा है, ये भ्रांति गलत है।"

केजरीवाल ने कहा, "अब दिल्ली के कोने-कोने में विकास हो रहा है। पहले जहां केवल फ्लाईओवर बन रहे थे, अब फ्लाईओवर तो बन ही रहे हैं,जितना पहले बन रहे थे, उससे ज्यादा बन रहे हैं, लेकिन पहले आप फ्लाईओवर से 50 मीटर नीचे उतरकर कच्ची कॉलोनियों, झुग्गी-बस्तियों में देखते, जहां आम लोग रहते हैं, तो वहां की सारी सड़कें टूटी हुआ करती थीं, गलियां टूटी होती थीं। पीने का पानी नहीं होता था। आज दिल्ली के हर कॉलोनी के अंदर सड़कें-गलियां बन रही हैं। दिल्ली में हमने 10 हजार से ज्यादा गलियां-सड़कें बनवाईं। हमारी सरकार में एक तरफ जहां फ्लाईओवर बन रहे हैं, साथ ही साथ कच्ची कालोनियों, झुग्गी बस्तियों, जहां आम लोग रह रहे हैं, सड़कें, नालियां, गलियां बन रही हैं। पानी और सीवर की पाइप लाइनें डाली जा रही हैं। दिल्ली की सारी जनता मानती है कि ये बात करने वाली सरकार नहीं है बल्कि काम करने वाली सरकार है।"