ALL व्यापार राजनीति स्वास्थ्य साहित्य मनोरंजन कृषि दिल्ली शिक्षा राज्य धर्म - संस्कृति
यू.एन.आई के अस्तित्व को बचाने के लिए आंदोलन तेज़ होगा
December 22, 2018 • Shiv Sachdeva

देश की पुरानी समाचार एजेंसी यूनाइटेड न्यूज़ ऑफ़ इंडिया (यू.एन.आई) के अस्तित्व की रक्षा की मांग को लेकर संघर्षरत यू.एन.आई बचाओ अभियान ने आज आंदोलन को राष्ट्रीय स्तर पर तेज़ करने का फैसला लिया।
इसके साथ ही अभियान के कोर कमेटी की बैठक में कई अहम फैसले लिए गए। कोर कमेटी की बैठक में लिए गए निर्णयों की जानकारी के लिए अभियान से जुड़े सेकड़ो आंदोलनकारी प्रतीक्षारत थे।
यह जानकारी यहाँ देर शाम चली बैठक के बाद वरिष्ठ पत्रकार एवं अभियान के मुख्य समन्वयक डॉ. समरेंद्र पाठक ने दी। बैठक की अध्यक्षता वरिष्ठ पत्रकार कली राम तोमर ने की। 
डॉ.पाठक ने कहा कि बैठक में आंदोलन को राष्ट्रीय स्तर पर तेज़ करने के अलावा यू. एन.आई को बर्बादी के कगार पर पहुँचने वाले पूर्व चैयरमेन एवं नव भारत भोपाल संस्करण के मालिक स्व.प्रफुल्ल माहेश्वरी से जुड़े मामलों पर भी चर्चा की गई तथा तय किया गया कि यू. एन.आई बोर्ड में शामिल किये गए स्व.माहेश्वरी के पुत्र विवादित मामलों को 15 दिनों के अंदर सुलझाये अन्यथा अभियान उनके खिलाफ आक्रामक रुख अपनाने के लिए बाध्य होगा। 
उन्होंने कहा कि संस्थान के पत्रकारों एवं गैर पत्रकारों का 35 महीनों के वेतन आदि का बैक लॉक तथा उनकी अन्य समस्याओं पर भी गंभीर चर्चा की गयी । 
कोर कमेटी की बैठक में जिन हस्तियों ने हिस्सा लिया उनमे सर्वश्री सनंत सिंह, देवानंद कौशिक , कुमार समत,अरविन्द दास ,बाबू मुन्ना ,सुबीर सेन, श्याम सिंह, मनीष झा, गिरधारी, गणेश कुमार गुप्ता,रमन कुमार झा, मनोज कुमार पाठक, आर.के झा, मुरारी झा, सुल्तान कुरैशी , दलीप सिंह,सुभाशीष चक्रवर्ती , अभिलाष कुमार, गोपाल ठाकुर, सजन कुमार झा, बबलू झा, शूरा खान,श्रीमती राखी गुप्ता, गौतम , रतन ठाकुर, हरिशंकर तिवारी एवं जतिन अत्री प्रमुख थे।
इस बैठक के समन्वय का जिम्मा अभियान के संयोजक डॉ.आर.के रमन ने डॉ.पाठक को सौपा था।