ALL व्यापार राजनीति स्वास्थ्य साहित्य मनोरंजन कृषि दिल्ली शिक्षा राज्य धर्म - संस्कृति
यमुना के पानी को इकट्ठा करने की महत्वाकांक्षी परियोजना पर मुख्यमंत्री ने मांगा केंद्र से सहयोग
June 21, 2019 • Shiv Sachdeva

-    दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से की मुलाकात

-    मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को बताया कि इस परियोजना का क्रियान्वयन दिल्ली के जल संकट खत्म कर देगी

-    मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को ये भी आश्वासन दिया कि राजधानी के विकास के लिए दिल्ली सरकार पूरा सहयोग देगी

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली सरकार की पानी से जुड़ी एक महत्वाकांक्षी परियोजना के लिए केंद्र सरकार से सहयोग की अपील की है। इस परियोजना के तहत यमुना के पानी का नेचुरल स्टोरेज किया जाएगा। इसको लेकर, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार सुबह संसद भवन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली को भारी जल संकट का सामना करना पड़ता है। ये जल संकट खासकर गर्मियों के मौसम में ज्यादा होता है। एक बार इस परियोजना के लागू हो जाने के बाद एक मानसून सीजन में इकट्ठा किया गया पानी दो साल तक दिल्ली की जरूरतों को पूरा कर देगा। इस महत्वाकांक्षी परियोजना की सिफारिश कई विशेषज्ञ समूहों ने भी की है जिसमें इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी), दिल्ली का एक स्टडी भी शामिल है।

इस बैठक में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लोकसभा चुनावों में सफलता के लिए बधाई भी दी। राजधानी दिल्ली के विकास के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री को दिल्ली सरकार की तरफ से पूर्ण सहयोग का आश्वासन भी दिया। साथ ही, उन्होंने ये भी अपील की कि दिल्ली के विकास के लिए दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार को मिलकर काम करना बहुत जरूरी है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिल्ली के स्कूलों और मोहल्ला क्लीनिकों देखने के लिए भी आमंत्रित किया है।

केंद्र के आयुष्मान भारत स्कीम पर भी इस बैठक के दौरान चर्चा हुई। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बताया कि दिल्ली सरकार की हेल्थ स्कीम ज्यादा व्यापक है। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को हालांकि ये भी आश्वासन दिया कि दिल्ली सरकार इस बात भी विचार करेगी कि क्या आयुष्मान भारत स्कीम को भी दिल्ली सरकार की हेल्थ स्कीम के साथ जोड़ा जा सकता है।