प्रदेश में पत्रकारों का उत्पीड़न बढ़ता जा रहा है:जयप्रकाश गोविन्दराव।
September 9, 2019 • विनय कुमार मिश्र

 

ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन (ग्रापए) के सदस्यों ने आज कलेक्ट्रेट परिसर में जिलाधिकारी के.विजयेन्द्र पांडियन को राज्यपाल को संबोधित एक ज्ञापन सौंपा। गापए के जिलाध्यक्ष जयप्रकाश गोविन्दराव ने कहा कि प्रदेश में पत्रकारों का उत्पीड़न बहुत बढ़ गया है।बीते दिनों मिर्जापुर जिले में हुई घटना इसका ताजा उदाहरण है।मिड डे मील में नमक और रोटी खिलाया जा रहा था जिसको पत्रकार ने  उजागर किया तो उसके खिलाफ अपराधिक धाराओं में कार्रवाई की गई जहां पर शासन और प्रशासन धृतराष्ट्र बना हुआ है। मौके पर जाकर हमारे पत्रकार ने स्कूल में चल रहे मिल डे मिल में चल रहे गोरखधंधा को उजागर किया जिसका परिणाम यह हुआ कि उसके ऊपर अपराधिक मुकदमा दर्ज कर दिया गया। अध्यक्ष ने कहा की अभी तो हम ज्ञापन दिए हैं जो मुकदमा दर्ज किया गया है जो कि प्रशासन और सरकार के नियति पर पूरी तरह से सवाल खड़ा करता है। ऐसे में सदस्यों ने कहा कि मिर्जापुर के पत्रकार पर जो मुकदमा दर्ज किया गया उसे तत्काल हटाया जाए नहीं तो हम ऐसा आंदोलन करेंगे जो कि शासन-प्रशासन के लिए एक इतिहास होगा।जिलाधिकारी व सीडीओ को वहां से स्थानान्तरित करने के साथ ही किसी जांच एजेन्सी से निष्पक्ष जांच कराई जाए।


   ज्ञापन सौंपने वाले में  रामअशीष त्रिपाठी अध्यक्ष संतोष कुमार त्रिपाठी. गजेंद्र त्रिपाठी. महामंत्री पंकज सिंह भारद्वाज, संगठन मंत्री डॉ बिपिन शाही,आई टी सेल प्रमुख अमित मिश्रा.त्रिपाठी,गोला तहसील अध्यक्ष बृजनाथ तिवारी,बांसगांव महामंत्री गंगासागर सिंह,भुवनेश्वर दूबे, बृजेश पाठक, अजित सिंह, श्याम जी मद्धेशिया, आनंद कुमार मिश्रा, शुभाष सिंह, शिवाकांत तिवारी इत्यादि उपस्थित थे।