ALL व्यापार राजनीति स्वास्थ्य साहित्य मनोरंजन कृषि दिल्ली शिक्षा राज्य धर्म - संस्कृति
दिल्ली इंटरनेशनल आर्ट्स फेस्टिवल का समापन
December 7, 2018 • Shiv Sachdeva
दिल्ली सरकार के साथ मिलकर पांच दिनों के इस कार्यक्रम में हमने बहुत कुछ नया और खूबसूरत देखा या यह कहा जाए की इस तरह के कार्यक्रम बहुत ही कम देखने को मिलते है और इतनी बढ़िया परफॉरमेंस जो दिल और दिमाग को सुकून देती है और हमे सोचने पर मजबूर कर देती है की यह लोग वाकई वो कलाकार है जो छुपे हुए है और मुझे बहुत ख़ुशी है की हमारे मारवाह स्टूडियो में इतने बड़े कलाकार आये और उन्होंने बेहतरीन परफॉर्मन्स दी,  और मुझे बहुत गर्व महसूस हो रहा है की इन कलाकारों से हमारे छात्रों को प्रेरणा और नया जोश मिला है यह कहना था दिल्ली इंटरनेशनल आर्ट्स फेस्टिवल के अंतिम दिन मारवाह स्टूडियो संस्करण में निदेशक संदीप मारवाह का। इस फेस्टिवल के अंतिम दिन बेल्जियम के कलाकारों की एक्रोबैटिक डांस आर्ट फ्यूज़न पर जानदार और शानदार परफॉरमेंस देखकर दर्शक मंत्रमुग्द हो गए। 
इस अवसर पर आचार्य सत्येंद्र नारायण, सोनिया ढींगरा, पॉल, हरीश त्रिपाठी, डॉ गोपाला और कुचीपुड़ी डांसर गुरु मीनू ठाकुर उपस्थित हुए