ALL व्यापार राजनीति स्वास्थ्य साहित्य मनोरंजन कृषि दिल्ली शिक्षा राज्य धर्म - संस्कृति
जरूरत-आधारित कौशल कार्यक्रमों के साथ सीईडीपी स्किल इंस्टीट्यूट द्वारा नए पाठ्यक्रमों का शुभारंभ
January 23, 2019 • Shiv Sachdeva
  • कौशल-आधारित शिक्षा के महत्व पर चर्चा करते हुए श्री दिलीप चिनॉय, महासचिव, फिक्की, ने युवाओं से कौशल-आधारित पाठ्यक्रमों के साथ आगे बढ़ने का आग्रह किया
  • सीईडीपी स्किल इंस्टीट्यूट द्वारा त्वरित कौशल विकास कार्यक्रमों का शुभारंभ जैसे कि बेसिक इन बार टेंडरिंग एंड मिक्सोलॉजी, ग्राउंड स्टाफ इन एविएशन, केक बेकिंग तथा ऑटोमोबाइल में ग्राहक सेवा सलाहकार (सीएसए)

    कौशल आधारित शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी संस्थान, सीईडीपी स्किल इंस्टीट्यूट ने मुंबई स्थित कालिदास सभागार में अपनी 8वीं वर्षगांठ मनाई। देश के युवाओं को रोजगारपरक बनाने तथा भविष्य के लिए तैयार रहने वाले कार्यबल के निर्माण की दिशा में प्रयास करते हुए सीईडीपी स्किल इंस्टीट्यूट ने कई जरूरत-आधारित कौशल पाठ्यक्रमों के शुभारंभ की घोषणा की। इन पाठ्यक्रमों के शुभारंभ के साथ न केवल युवाओं के लिए रोजगार की संभावनाओं में वृद्धि होगी बल्कि भविष्य के उद्यमियों के विकास को भी बढ़ावा मिलेगा। इस प्रकार, रोजगार के भी अधिक अवसर पैदा होंगे।

    प्रधानमंत्री कौशल भारत मिशन के प्रति दृढ़ विश्वास के साथ, सीईडीपी स्किल इंस्टीट्यूट ने अप-स्किल प्रोग्राम, सुपर-स्किल प्रोग्राम, रोजगार स्किल प्रोग्राम और कॉर्पोरेट स्किल प्रोग्राम की व्यापक श्रेणियों के तहत कई कौशल-आधारित कार्यक्रमों की घोषणा की। इसके अलावा, सीईडीपी स्किल इंस्टीट्यूट ने ऑटोमोबाइल में बेसिक इन बार टेंडरिंग एंड मिक्सोलॉजी, ग्राउंड स्टाफ इन एविएशन, केक बेकिंग तथा ऑटोमोबाइल में ग्राहक सेवा सलाहकार (सीएसए) जैसे त्वरित कौशल विकास कार्यक्रमों का भी शुभारंभ किया गया।

    मौजूदा प्रगति पर टिप्पणी करते हुए फिक्की के महासचिव, श्री दिलीप चिनॉय ने कहा, “भारत में युवाओं की क्षमता का कम उपयोग किया गया है। कौशल शिक्षा हमारे देश को दुनिया में मानव संसाधन की राजधानी बनाने के लिए एक परिवर्तन एजेंट की भूमिका निभा सकती है, जिससे युवाओं के लिए भारत के साथ-साथ विदेशों में रोजगार के अवसर पैदा होंगे। पिछले आठ वर्षों से देश में एक कुशल कार्यबल तैयार करने में सीईडीपी स्किल इंस्टीट्यूट का बड़ा योगदान रहा है। इन नए कार्यक्रमों का शुभारंभ, भविष्य के लिए तैयार कार्यबल के निर्माण की दिशा में सीईडीपी स्किल इंस्टीट्यूट के अथक परिश्रम का प्रमाण है।”

    इस अवसर पर श्रीमती शाहीन खान, संस्थापक व सीईओ, सीईडीपी स्किल इंस्टीट्यूट ने अपने विचारों को साझा करते हुए कहा, "इस प्रकार के आवश्यकता-आधारित कौशल पाठ्यक्रमों का शुभारंभ करते हुए हमें बेहद प्रसन्नता हो रही है। यह युवाओं को उद्योग जगत का हिस्सा बनने का अवसर उपलब्ध कराने का एक शानदार तरीका है, जहां वे रोजगार की तलाश करना चाहते हैं। हम एक ऐसे युग में प्रवेश कर चुके हैं जहां एविएशन, ऑटोमोबाइल, हॉस्पिटैलिटी और हेल्थकेयर जैसे उद्योगों को कुशल कार्यबल की सख्त जरूरत है। हमारे पाठ्यक्रमों का निर्माण उद्योग जगत की वर्तमान एवं भविष्य की जरूरतों को पूरा करने की बात को ध्यान में रखते हुए किया गया है।


    चर्चा को आगे बढ़ाते हुए श्री वसीम शेख, समूह अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक, सीईडीपी स्किल इंस्टीट्यूट ने कहा, “वैश्वीकरण एवं नई-नई प्रौद्योगिकियों के आगमन से पूरा परिवेश प्रभावित हुआ है तथा इससे नौकरियों के स्वरूप एवं जरूरतों के साथ-साथ आवश्यक कौशल पर भी प्रभाव पड़ा है। इसके परिणामस्वरूप उच्च गुणवत्तायुक्त कौशल-आधारित शिक्षा की आवश्यकता पर काफी बल दिया जाने लगा है। हमें इस बात की बेहद खुशी है कि लगभग एक दशक अभी से हम प्रायोगिक एवं उद्योग जगत हेतु प्रसांगिक प्रशिक्षण प्रदान कर रहे हैं, जिससे 15000 से अधिक युवाओं को रोजगार प्राप्त करने में सफलता मिली है। 

    सीईडीपी स्किल इंस्टिट्यूट के बारे में (https://www.सीईडीपी-edu.com/)


    कॉउंसिल ऑफ़ एजुकेशन एंड डेवलपमेंट प्रोग्राम्स (सीईडीपी) स्किल एजुकेशन को उपयुक्त कौशल प्रशिक्षण और शिक्षा के माध्यम से व्यक्तियों और समूहों को जीवन का बेहतर स्तर करने के उद्देश्य से वर्ष 2010 में गठित किया गया था। स्किल इंडिया के राष्ट्रव्यापी उद्देश्य की दिशा में अपना योगदान देने वाले एक विश्व स्तरीय कौशल विकास संस्थान बनने के लक्ष्य ने सीईडीपी को बेहतरीन कौशल शिक्षा प्रदान करके युवाओं को सशक्त बनाने, रोजगार प्रदान करने और उनके बीच उद्यमिता के विकास को बढ़ावा देने में सक्षम बनाया है।

    यह संस्थान ISO 9001: 2015 (इंटरनेशनल आर्गेनाइज़ेशन ऑफ़ स्टैंडर्डाइज़ेशन) एनएसडीसी (नेशनल स्किल डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन), एनआईईएसबीयूडी (नेशनल इंस्टिट्यूट फ़ॉर आंत्रप्रेन्योरशिप एंड स्मॉल बिज़नेस डेवलपमेंट) के साथ-साथ नेशनल हेल्थकेयर स्किल कॉउंसिल द्वारा प्रमाणित और पंजीकृत है। सीईडीपी स्वास्थ्य देखभाल के व्यावसायिक प्रशिक्षण केंद्र,एमएसएसडीएस (महाराष्ट्र स्टेट स्किल डेवलपमेंट सोसाइटी), एनएसआईसी (नेशनल स्मॉल इंडस्ट्री कॉरपोरेशन) पब्लिक प्राइवेट ट्रेनिंग एंड इन्क्यूबेशन सेंटर फॉर हेल्थकेयर एंड ऑटोमोटिव ट्रेनिंग प्रोग्राम्स से संबद्ध है जो सीईडीपी की संबद्धता सूची को और भी लंबा बनाते हैं।