ALL व्यापार राजनीति स्वास्थ्य साहित्य मनोरंजन कृषि दिल्ली शिक्षा राज्य धर्म - संस्कृति
औषधि नियंत्रण विभाग और दिल्ली पुलिस के संयुक्त प्रयास से नकली दवाईयों के रैकेट का भांडा फोड़
August 17, 2019 • Shiv Sachdeva

ग्राम कटेवड़ा, बवाना, दिल्ली -110039 में स्थित परिसर से संदिग्ध गुणवत्ता की क्रीम / मलहम के निर्माण संबंधी एक सूचना के आधार पर, उक्त परिसर में दिनांक 3.8.2019 को सुबह दिल्ली पुलिस और औषधि नियंत्रण विभाग, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली सरकार के अधिकारियों की एक टीम द्वारा अशोक कुमार सुपुत्र श्री रामभरोसे स्थाई निवासी फतेहपुर पात, सुराया, फिरोज़ाबाद, उत्तर प्रदेश नामक व्यक्ति को पकड़ा । जिसे उस परिसर में प्लैनेटरी मिक्चर, फिलिंग एण्ड सिलिंग मशीन, बैच कोडिंग मशीन, शिरींकिंग मशीन को स्थापित करते पाया गया ।

पॉलीथीन सिकुड़न के लिए गैस स्टोव , इलैट्रोनिक वेइंग बेलेंस, हीटिंग गनस, खाली सिमटने वाली टयूब, कच्चा माल एवं पैकिंग सामग्री के साथ बेटनोवेट –सी, बेटनोवेट-एन और पैनड्रम प्लस-प्लस जैसे नामी ब्रांडों की कीम/मलहमों का विशाल भण्डार बरामद किया गया ।

अशोक कुमार द्वारा इन औषधियों के निर्माण के लिए कोई भी औषधि विनिर्माण लाइसेंस या इन औषधियों के मूल विनिर्माताओं से संबंधित किसी भी प्रकार का वैध प्राधिकार प्रस्तुत करने में असमर्थ रहा । श्री अतुल नासा , नियत्रंक प्राधिकारी, औषधि नियत्रंण विभाग, दिल्ली तथा दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के साथ व्यक्तिगत रूप से इस ऑपरेशन का सर्वेक्षण और निगरानी की गई।

औषधि निरीक्षक ने दवाओं की गुणवत्ता का पता लगाने और उनकी वास्तविकता को सत्यापित करने के लिए परीक्षण / विश्लेषण हेतु अशोक कुमार से उक्त समस्त तीन औषधियों के नमूने भी एकत्रित किए। नामी ब्रांडो की कीम/मलहमों के संपूर्ण भण्डार, उपलब्ध मशीन , कच्चा माल और पैकिंग सामग्रियां आदि बरामद कर ली गई। बरामद किए गए सामान की अनुमानित लागत लगभग 1.4 करोड़ रूपये है।

अपराध में शामिल व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है और आगे जांच की जा रही है ।